Roorkeeknowledge
Roorkeeknowledge Subscribe our Youtube Channel
Subscribe

Difference of bounce rate or exit rate in hindi

 Difference of bounce rate or exit rate in hindi 

 




BOUNCE  RATE में  DIFFERNCE क्या हैं 

जब आप अपनी साइट को बनाते हैं तो जब उस पर कोई यूजर आपकी साइट पेज पर आता हैं और अन्य पेज पर जाया बिना ही आपकी साइट को छोड़ कर चला जाता हैं उसी को सिंपल भाषा में बाउंस रेट कहते हैं मतलब जो यूजराे का प्रतिशत हैं आपकी वेबसाइट पर आतें हैं और दूसरे आर्टिकल या पोस्ट को नहीं देखते हैं और पहले  पेज से बहार निकल जाते हैं। 


USER     WEBSITE    LANDING PAGE    X    EXIT


आप यह बात ध्यान  रखनी होगी की जब भी रेट की बात हो रही होगी तो वो PERCENTAGE % में हो होगी या तोह वो कोई वैल्यू पूछ रहा हैं या फिर वो हमे % में कोई डाटा INFORMATION दे रहा हैं तो BOUNCE RATE को कैसे कैलकुलेट करेंगे। 

जैसे कोई आपकी साइट पे आता हैं ऐसा तो नहीं हैं की हर कोई आपकी साइट से बहार निकल जाता होगा कुछ % लोग तो दूसरे पेज को भी विजिट करते होंगे जैसे 100 यूजर आये जिसमे से 40 यूजर EXIT कर  गए  मतलब बहार निकल गए  60 यूजर आगे बढ़ गए तो हम बाउंस रेट किस तरहे से CALCULATE करेंगे। 


     BOUNCE RATE     =     ONE PAGES VISIT

                                                 TOTAL VISIT

 
TOTAL VISITOR 100 DIVIDE BY 40 X100 तो अभी हमारे पास बचा 40 % BOUNCE RATE समझ में आगया BOUNCE RATE क्या होता हैं।

तो क्या यह चीज़ हमारे लिए अच्छी  हैं की विजिटर हमारी वेबसाइट से निकल जाएँ  लेकिन यह बात तो अच्छी नहीं हैं हम तो चाहते हैं की विजिटर हमारी वेबसाइट से जयादा से जयादा INTERACT करें और जो हमने पोस्ट की वो उनको भी देख़े तो हम कभी नहीं चायेंगे की हमारा BOUNCE RATE INCREASE होना चाइए हमे बाउंस रेट को इस तरहे से मॉनिटर करना हैं की वो CONTINOUSLY  DECRESAE होता रहे। 

हमे अपने गूगल एनालिटिक्स में जाकर देखना होगा की जो हमारे पिछले WEEK का गूगल ANALYTICS देख रहे हैं  या पिछले MONTH का देख रहें है उसके COMPARISON में वो INCREASE नहीं होना चाइए  बल्कि DECREASE होना चाइये यह STORY हो गयी हमारी बाउंस रेट की क्या होता हैं।  

आशा करता हूँ की आप समझ गए होंगे तो अब बात करते हैं EXIT RATE क्या होता हैं। 


EXIT RATE में DIFFERNCE क़्या  हैं 


बात की जाये तो दोनों शब्द एक दूसरे से मिलते जुलते नज़र आते हैं दोनों MEANING एक जैसे ही हैं जैसे बात की जाए की हमारी वेबसाइट से विजिटर का निकल जाना होता हैं 

तो जब विजिटर आपकी वेबसईट पर आएगा तो वह FIRST PAGE पर गया फिर SECOND PAGE पर गया उसके बाद वह THIRD PAGE पर गया अभी उनमे कुछ विजिटर SECOND पेज से बहार आ गए और कुछ THIRD पेज से बहार आ गए  EXIT कर गए तो जो यूजर पहले पेज से नहीं बल्कि SECOND पेज से बहार निकल रहा हैं इसी को कहते हैं EXIT RATE. 


   EXIT RATE =  TOTAL EXITS FROM THE PAGE 

                        TOTALS VISITS


अब हम समझते हैं SECOND पेज तक आएं 100 विजिटर और फिर EXIT हुए 20  विजिटर तो EXITRATE  हो जायेगा 20 % तो THIRD पेज तक बचते हैं 80 विजिटर आते हैं और फिर 40 विजिटर वापस हो जातें हैं तो टोटल यहाँ पर कितने पहुंचे 80 /40  तो बचे  50 % हमारा EXIT RATE हो गया EXIT RATE  BASICALLY PAGE ORIENTED मैट्रेस्स हैं इसीलिए हर एक पेज का EXIT RATE होगा। 

हमे गूगल एनालिटिक्स में COMBINE  दिखता हैं EXIT RATE जिसे हम बोल सकते हैं AVERAGE EXIT RATE होता हैं तो आपको पता चल ही गया होगा की BOUNCE RATE और EXIT RATE में क्या DIFFERNCE हैं। 





जब आप अपने गूगल एनालिटिक्स में जाएंगे तो लेफ्ट में आपको BHEAVIOUR ऑप्शन दिखाई देगा और उसी के नीचे OVERVIEW दिखाई देगा तो आपको EXIT RATE दिखाई देगा तो ये GENERAL EXIT RATE हैं उसके आलवा अगर आप पेज के EXIT RATE देखना चाहते हैं तो आपको SITE CONTENT में जाना होगा BHEAVIOUR के निचे ही आपको SITE CONTENT दिखायी देगा फिर आपको आपके पेज दिखाइए देंगे और उन पेज के CORRESPONDING यहां पर उनका आपको EXIT RATE दिखायी देगा और उसी के ऊपर COMMON EXIT RATE भी दिखायी देगा जो हमारा EXIT RATE होता हैं। 

अगर आपको  FULL GUIDENESS चाइए तो आप इस लिंक पर क्लिक करे। 

JUST CLICK HERE 






Summary in Hindi - संक्षेप में :-


उम्मीद करता हूँ की मेरे द्वारा दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी होगी। 

तो आप इसे सोशल मीडिया अकाउंट पर भी शेयर कर सकते सकते हैं फेसबुक इंस्टाग्राम ट्विटर पर जरूर शेयर करें धन्यवाद।  


 





Post a Comment

1 Comments