Roorkeeknowledge
Roorkeeknowledge Subscribe our Youtube Channel
Subscribe

BOUNCE RATE क्या है

 BOUNCE RATE क्या है और इसे  कैसे कम कर सकते  है  








क्या आपको पता है  की BOUNCE RATE क्या होता है और इसे कैसे कम कर  सकते है। अगर है नहीं तो आज हम आपको इस पोस्ट में बताएँगे। 

यदि आपका कोई WEBSITE या BLOG हे तो आपको BOUNCE RATE  के बारे में थोड़ा बहुत जानते होंगे  यदि आप हमेशा ALEXA में अपना BLOG का RANK ,GLOBALRANK ,INDIARANK ,PAGES ,VISITOR, चेक करते होंगे तब आपको इसके साथ में बाउंस रेट भी दिखाई देता होगा। 

पर एक ब्लॉगर को जब बहुत बुरा लगता हे जब आपकी SITE  का BOUNCE RATE AVERAGE से जायदा हो जाता हे और इससे आपकी ब्लॉग की AUTHORITY और RANK अपने आप ही निचे गिरने लगती हैं। 

क्योंकि किसी भी SITE का BOUNCE RATE जयादा होना वो SITE यूजर के लिए अच्छी बात नहीं हे और यदि आपका साइट भी इसी केटेगरी में आता हे तब तोह आपके लिए यह बहुत बुरी खबर है आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए। 

क्योंकि आज हम इसी पोस्ट में ऐसी जानकरी प्राप्त करेंगे जिसे आपको समझने में बहुत आसानी होगी आपको पूरा ARTICLE जरूर पड़ना चाइए क्योंकि ये टिप्स आपको आगे भी काम आएगी  


BOUNCE RATE   क्या है  (WHAT IS BOUNCE RATE)




अगर आप अपनी BLOG या SITE के SEARCH PERFORMANCE  को बढ़ाने की पूरी कोशिश कर रहे हो और हो नहीं रहा है तो इसके पीछे छुपा हुआ राज है सबसे पहले Bounce Rate को कम करे. लेकिन इसमें कुछ गलतियाँ आपकी है आपके PLAN  में कुछ गड़बड़ी है. क्या गड़बड़ी होगी जिसमे हम बात करेंगे। 

क्या हैं ये BOUNCE RATE जब एक visitor आपके WEBSITE में आता है और एक PAGE  मतलब ENTRANCE PAGE  को VISIT  करता है और वो उसके बाद वापस चला जाता है, तो इसिसको BOUNCE  बोला जाता है.

लेकिन BOUNCE RATE  का मतलब है ये उन VISITOR का % है जो की आपके PAGE  पे आते हैं और कोई दुसरे PAGE  पे  CLICK  किये बिना ही वापस चले जाते हैं.

इसका ये मतलब है की VISITORS आये और तुरंत वापस चले गए बिना किसी दुसरे PAGES  को खोलके या आपके ARTICLES को बिना पढ़े ही. लेकिन अगर ऐसा हो रहा है तो इससे ये साबित हो रहा की आपकी WEBSITE के POST इतने INTERSETING नहीं है या फिर आप इसमें ज्यादा VALUE नहीं डाल रहे हैं.

अगर एक website या फिर एक blog है, जिसका Bounce Rate अगर 45% हैं. इसका मतलब उस website में 45% visitor ऐसे हैं जो की एक page खोलते है और तुरंत ही वापस चले जाते हैं.

शायद उनके पढने लायक उन्हें कुछ न मिला हो. इसके होने के कई कारण हो सकते हैं जिनके विषय में हम आगे जानेंगे. तो चलिए अब जानते हैं bounce Rate कितने होने से ज्यादा अच्छा होता है site लिए.

Bounce Rate कितना होना चाहिए 

अब तक तो आपको थोडा बहुत idea तो हो ही गया होगा के Bounce Rate क्या है. इसमें आप को बताऊंगा की ए website का Bounce Rate कितना होना अच्छा  है  कितना होने से चलेगा और कोनसा आपके site के लिए बेकार है.

इसे ठीक रूप से समझने के लिए मैंने इसे चार हिस्सों में बाँट दिया है.

1. 1% से 10%
2. 10% से 40%
3. 40% से 70%
4. 70% से ज्यादा 

1% से 10% के अंदर कोई blog का bounce Rate है तो वो दुनिया के कामियाब websites के list में आती है. उसके बाद अगर 10% से 40% तक आती है तो भी बढ़िया है.

वहीँ तीसरे में जो की है 40% से 70%, इसमें आम तोर पर ज्यादातर website शामिल होते हैं. जो की उतनी अच्छी नहीं है लेकिन काम चलने लायक है. यदि हम सभी Websites की बात करें तब कुल 75% से 80% website इसी CATEGORY में आती है.

और आख़िरकार जिन websites की bounce rate 70% से ज्यादा होती है, वो बिलकुल भी ठीक नहीं है और उन्हें अपने website के ऊपर बहुत काम करना है. अब जानते है किन किन गलतियों से bounce Rate ज्यादा हो ज्याता है.

यदि आप सोच रहे हैं की क्या सभी प्रकार के websites के bounce rate समान होते हैं तब इसका जवाब नहीं है. अलग-अलग तरह की websites के लिए bounce rate अलग अलग होते हैं. 

किन गलतिओं से Website या Blog की Bounce Rate ज्यादा होता है

यही कुछ गलतियाँ एक Blogger आम तोर पर करता है, जिसपे आपको जरुर ध्यान देना चाहिए.

  • Website का Loading time ज्यादा होना.
  • Single Page Site का होना.
  • ख़राब quality के contents का होना.
  • Internal link visitor को पसंद आना चाहिए.
  • Traffic के लिए गलत KEYWORD 
  •  पर rank करना.
  •  Quality और user को पसंद आने वाले Content नहीं होना की वजह से.
  •  आप की website का design बेकार होना.
  • Formatting का गड़बडाना.
  • आपके Content के Heading खास होना जरुरी है.

    Bounce Rate को कम कैसे करें  :-

    तो अब हम आपको बताएँगे की किन किन तरीकों से आप Bounce Rate को कम करें.

    1. Site Design और Look अच्छा होना चाहिए 

    देखिये दोस्तों आपको जो चीज़ दिखने में अच्छी लगे तब उसकी और आप attract हो ही जाते हैं. वैसे ही अगर आपकी website और blog दिखने में अछि लगे तो visitors आपकी website की और अपने आप आएंगे और उनको Content पढने में भी अच्छा लगेगा.

    जब भी आप अपने blog को design कर रहे हों तो आपको Color Combination का knowledge होना बोहत ही जरुरी है. आपको अपने visitors को समझना होगा की कोनसा Color site में अच्छा लगेगा.

    Font Color और Text Size का चयन सही से करे, जैसे अगर आप पूरा text का font लाल कर देंगे तो पढने वाले को चस्मा लग जाये गा और text size भी सही रखे जिसे visitor को पढने में कोई परेशानी झेलनी ना पड़े.

    क्यूंकि एक कहावत है ग्राहक भगवान होता है और भगवान को दुःख करना मतलब अपने पेट में लात मरना. अगर अपनी site में भर भर के animation दे दिए हो तो वो भी कुछ खास नहीं लगता. Site का design simple और Readers friendly बनायें.

    2. Page Load Time पे ध्यान दें 

    अगर आपके site का page load time ज्यादा है. इसका मतलब ये हुआ, आते हुए visitors को blog तक पहुँचने  से पहले माना कर देना. अगर आप blogger हो तो इसके उपर जरुर गोर फरमाइए और SEO के लिए भी बहुत जरुरी है.

    अगर आपके SITE का PAGE लोड TIMING है.

1- 1 second से कम मतलब- Perfect है.
2- 1 second से 3 Second मत्लत- Above average है
3- 3 second से 7 second मतलब-  Average
4- 7 से ज्यादा मतलब- Very poor

आपको अगर visitors को खुश करना है तो Perfect या फिर Above Average रखें. Page में limited image और कम size का image इस्तेमाल करे इससे page लोड time कम होगा.

    3. Content Quality वाला लिखे 

    अगर आपके site में Quality वाले Content हैं तो आपके site को Brand बनाने में काफी मददगार होगी और Brand मतलब आप समझते ही होंगे. अगर आप site के Branded और valuable Content पे ज्यादा ध्यान देंगे तो आपको थोडा वक्त लगेगा लेकिन आपके goal तक आप जल्दी पहुँच जाओगे.

    आपका Content अगर Quality वाला नहीं होगा तो visitor अपने आप वापस चले जाएंगे आपके site से, क्यूंकि ऐसे बहुत से websites हैं जो की आप website की तुलना में बेहतर content प्रदान कर रहे होंगे.

    जैसे अगर आप Content लिख रहे हैं और वहां पर सही information नहीं दे रहे हैं, जो मन में आए वही लिख रहे हैं. इससे आपका Site का rank कम हो जाएगा इसलिए जो सही है वही लिखे.

    अगर आप गलत information दे रहे हैं अपनी Site में तो User मतलब Visitor उसके हिसाब से गलत Decision लेगा जो कि गलत Result लेकर आएगा. यह बात जरूर याद रखें. Content का size 500 से 1000 Word रखें और Simple भाषा का इस्तेमाल करें जिस्से Visitor को जल्दी से समझ में आये आप क्या लिखे हो और site के उपर भोरोसा बढेगा. दोस्तों अगर आप Quality Content देंगे थोड़ा वक्त लगेगा लेकिन Visitor अच्छे आएंगे और आपके site का Bounce rate भी थोड़ा कम हो जाएगा.

    जैसे की हम सभी जानते हैं की आजकल Mobile users सबसे ज्यादा हैं. इसलिए हमें अपने Blog को mobile friendly बनाने में ज्यादा ध्यान देना चाहिए.

    SUMMARY IN HINDI -संक्षेप में :-

    उम्मीद करता हूँ  की  BOUNCE RATE  किसे कहते हें  हिंदी में समझ गया होंगे आपको ये पोस्ट पसंद आयी होगी। 


    आपको अगर ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने सोशल मीडिया अकाउंट फेसबुक इंस्टाग्राम में जरूर  शेयर करें  धन्यवाद।




Post a Comment

1 Comments